बड़ी ख़बर बिहार के बगहा से है जहां कोरोना काल के बीच मीना बाजार में गोड़ियापट्टी निवासी बाबूलाल सहनी जैसे ही मीना बाजार में आम खरीदने

बगहा, मीना बाजार में गोड़ियापट्टी निवासी बाबूलाल सहनी जैसे ही मीना बाजार में आम खरीदने पहुंचा की अचानक गिर पड़ा जिसको आनन फानन में ठेला पर लाद कर बगहा अनुमंडलीय अस्पताल लाया गया जहां मौके पर उपस्थित डॉक्टर ने जांच पड़ताल करने के बाद हार्ट अटैक से मृत घोषित कर दिया। हद तो तब हो गई की जब ख़बर मिलने की सूचना पर पहुंचे मृतक के परिजनों ने शव को घर ले जाने के लिए एम्बुलेंस की मांग किया तो अस्पताल प्रबंधन ने हाथ ख़ड़े कर दिए जिसके कारण मृतक का शव ठेला पर लादकर वापस घर ले जाया गया ।

लेकिन बगहा अनुमंडल अस्पताल में परिजन जब गंभीर हालत में बाबू लाल सहनी को ठेला पर लेकर पहुंचे तो अस्पताल में उन्हें स्ट्रकचर तक नसीब नहीं हो सका तस्वीरेँ आप ख़ुद देखिये औऱ अंदाज़ लगाइए की स्वास्थ्य विभाग के दावे और ज़मीनी हक़ीक़त में कितना फ़र्क है ।

बात दें पश्चिम चम्पारण जिला मुख्यालय बेतिया में ही एक मात्र मोर्चरी की व्यवस्था है शव वाहन की अनुमंडलीय अस्पताल बगहा में अब तक व्यवस्था नहीं कि जा सकी है जिसके चलते आए दिन ऐसी तस्वीरे सामने आया करती हैं बावजूद इसके प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से अनदेखी की जा रही है जो मानवता को तार तार कर रहा है ।