प•चम्पारण मे फर्जीवाड़ा कर हुंडई कम्पनी ने बेचा बेतिया के एक वकील को एक कार i-20 ।गाड़ी 20जून 20 को खरीदी गई तो वही गाड़ी का रजिस्ट्रेशन पहले ही कर दिया गया था

वह भी बिहार से नही करा कर अरुणाचल प्रदेश से रजिस्ट्रेशन कराया गया हैं।जहां एक तरफ राजस्व की क्षती वही अरुणाचल प्रदेश की बढा रहे हैं राजस्व। इस संबंध मे अधिवक्ता चंद्रिका प्रसाद ने बताया की मै 2020 के जून महीने मे बाला जी हुंडई से गाडी खरीदा था उस समय मुझे कोई कागज नही दिया गया था मै उस समय से लगातार ऑनर बुक और रजिस्ट्रेशन नम्बर मागा पर नही दिया गया अभी मुझे अरुणाचल प्रदेश का रजिस्ट्रेशन नम्बर मिला बेतिया के बाला जी हुंडई बेतिया के मैनेजर अजय कुमार द्वारा वह भी जून माह का खरीद किया हुआ गाडी मार्च 2020 का जबकि मै बोला की मुझे बिहार का नम्बर चाहिये तो वह कुछ भी नही बोले । मेरे साथ पूरी तरह से फर्जीवाड़ा किया गया बिना मेरे खरीदे गाडी का आखिर तीन माह पहले कैसे मेरे नाम से रजिस्ट्रेशन हो गया सोचने वाली बात है ।अंत मे हार मान मुझे बेतिया मुफस्सिल थाना मे हुंडई कम्पनी के पूर्वी व पश्चिमी चम्पारण के मैनेजर सहित इस कम्पनी के वरीय अधिकारी के खिलाफ प्राथमिकी करना पडा 

वही बाला जी हुंडई बेतिया के मैनेजर अजय कुमार ने बताया की चंद्रिका प्रसाद बेतिया शोरूम से गाडी नही खरीदे है मुझे जानबूझकर फसाया गया है ।वह मोतिहारी से गाडी लिये है ।

आशीष कुमार