आज युवा राजद के जिलाध्यक्ष के आवास पर प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए मुकेश यादव जिलाध्यक्ष ने सरकार पर जमकर बरसे

  उन्होंने कहा कि आज कोरोना का दूसरा लहर सिर्फ सरकार की लापरवाही से रफ्तार पकडा हैं 1 साल से सिर्फ कुर्सी बचाने में व्यस्त थे कुकर्मी कुमार, वही सरकार पर साजिश कर गरीब भारतीय को मारने आरोप लगाया और कहें कि ये कैसा बीमारी हैं कि कोरोना को आने से सारे बीमारी भाग गई और आज तक कोई पशु या पक्षियों को क्यों नहीं हुआ उन्होंने कहा कि कहीं यह बड़े पैमाने पर शरीर के अंगो को बेचने का काम तो नहीं किया जा रहा उन्होंने ने चुनावी मामले में कहा कि आज कोरोना प्रतिदिन 3 लाख के पास हैं तो देश के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री जी चुनाव प्रचार में लगे हैं ये देश का दुर्भाग्य हैं इतिहास में लिखा जाएगा कि एक तरफ जनता की जा रहीं थीं जान तो दूसरे तरफ PM माँग रहें थे मतदान यादव जी ने  नही रुकते हुए आगे बोले कि चंपारण इस महामारी में नंबर वन जिला बन गया है वही महँगाई के मार से जिवित जनता परेशान हैं और एक थका हारा और अनुकंपा पर बहाल मुख्यमंत्री इतनी सफ़ेद झूठ बोलने की हिम्मत कहाँ से जुटाता है? नीतीश जी, जितनी ऊर्जा व जुगत आप विपक्षियों को फँसाने, जोड़ तोड़ तथा नीति, नियम, सिद्धांत और विचार त्याग अपनी जर्जर कुर्सी के टूटे पाये को ठीक करने में लगाते है अगर उसका एक फ़ीसदी भी स्वास्थ्य संरचना, सेवा और व्यवस्था ठीक करने में लगाते तो बिहारवासियों को बिन ईलाज नहीं मरना पड़ता, यादव जी ने नितीश सरकार को कुर्सी कुमार कहते हुए पुछा कि उनके पास 12 करोड़ बिहारवासियों के वाजिब सवालों का जवाब है  क्या 16 वर्षों के मुख्यमंत्री यह बता सकते है कि विगत एक वर्ष में वह ऑक्सीजन तक की उपलब्धता सुनिश्चित क्यों नहीं करा सके? कोरोना प्रबंधन को लेकर वह क्या कर रहे थे?बिहार की स्वास्थ्य सेवा ICU में भर्ती क्यों है? जिलाध्यक्ष ने DM और CM से अपील करते हुए कहा कि आज चंपारण के किसान,मजदूर गरीब जनता और छात्र - बेरोजगार युवा सबसे ज्यादा महंगाई की मार और कोरोना से त्रस्त हैं। किसानों का गन्ना का भुगतान अति शीघ्र कराए और बीपीएल धारी परिवार एव मजदूर- प्रतिदिन रिक्शा चला कर पेट पालने वाले को सरकार जल्द अर्थिक मदद करे। 

वहीं प्रेस में मत्स्य प्रकोष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष श्री शंकर चौधरी जी ने कहा कि आज प0 चंपारण ज़िले से सरकार में शामिल एक दर्जन BJP- JDU के विधायक- सांसद और उपमुख्यमंत्री तक के आदरणीय हैं परंतु जिला में भ्रष्टाचार और ऑफिसरशाही चरण सीमा पर है सही प्रखंडों और थानों में बिना चढावा के कोई गरीब जनता का काम नहीं हो रहा है उन्होंने कहा कि कल मेरे साथ  घटना घटा जिसमें मै कोरोना महामारी जैसे आपदा को लेकर अपने दरवाजे पर लोगों को जानकारी दे रहा था तो वही पता नहीं कैसे बैरिया के थाना प्रभारी पहुंचे तो गरीब और मजदूरों को डराने धमकाने लगे जब मैं प्रभारी महोदय से बोला तो उल्टे ही थाना प्रभारी ने मुझे अपशब्द भाषाओं का प्रयोग करते गाली देने का आरोप भी लगाए उन्होंने कहा कि थाना प्रभारी द्वारा मेरे ऊपर  FIR कर फंसाने का धमकी भी दी गई उनके द्वारा SP साहब से आग्रह  की गई इस मामला को अपने  स्तर से जांच  कारवाई जाएं अन्यथा कोरोना काल खत्म होते ही हम सभी राजद के कार्यकर्ता थाना पर बड़े आंदोलन और धरना प्रदर्शन करेंगे इसे हल्के में ना लेने की बातें कही गई जिला प्रशासन वही प्रेस कांफ्रेंस में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते मौके पर महिला जिलाध्यक्ष शकुंतला देवी,सूबा यादव, प्रिंस मिश्रा,छात्र अध्यक्ष रणधीर यादव, अमजद खान ,सुरेंद्र मुखिया,सुरेश कुशवाहा,आजाद आलम,विकास चौधरी,एशियाई खान,विनय जी के साथ आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

सुमित कुमार